UP Majduri Bhatta Scheme- योगी सरकार 1000 रुपए मजदूर भत्ता योजना के तहत देगी गरीब परिवार के लिए उप मजदूरी भत्ता योजना

By | March 26, 2020

UP Majduri Bhatta Scheme: प्रिये देश वासियों जैसा की आपस सभी जानते है की देश और दुनिया एक बड़ी संकट से जूझ रही है। आप इसे यूँ कह सकते है की पूरी दुनिया एक नई परेशानी का समाना कर रहा है जिसे कोरोना वायरस के नाम से जानते है। ऐसा माना जा रहा है की कोरोना वायरस से अब तक हजारो की तादाद में जान जा चुकी है इसी के चलते भारत में भी आप देख रहे है किसी तरह से अपना पैर फैला रहा है भारत सरकार के द्वारा पुरे देश को लॉक डाउन कर दिया गया है तह राज्य सरकार के द्वारा सभी स्टेट अलग स्कीम लेकर आया है जिसमे में से एक है उत्तर प्रदेश कोंविरस मजदूरी भत्ता (उत्तर प्रदेश कोरोना वायरस मजदूरी भत्ता) अपने शहरियों को देने का फैसला किया है चूँकि पुर देश में लॉक डाउन चल रहा है। और हमारे देश के साथ राज्य में बहुत से ऐसे मजदुर है जो की डेली कमाते हाई और डेली खाते है जिसे दिहाड़ी मजदुर भी कहते है। इ लॉक डाउन होने के बाद से गरीब परिवार की समस्या बहुत आधिक बढ़ चूका है इसलिए इन सभी समस्या को देखते हुए उत्तर प्रदेश मजदूरी भत्ता योजना UP Majduri Bhatta Scheme के तहत हर परिवार को 1000 रुपे की आर्थिक मदद दिया जाएगा। जाने कैसे प्राप्त होगा कोरोना वायरस मजदूरी भत्ता उत्तर प्रदेश में मजदूरी भत्ता योजना की अधिक जानकारी के लिए पोस्ट को अगर अध्यन करें,

UP Majduri Bhatta Scheme:

कोरोना वायरस के बचाव के लिए भारत सरकार ने 14 अप्रैल 2020 तक लॉक डाउन का एलान कर चूका है। इस आदेश के अनुसार सभी देश वासी अपने घरों के अन्दर रहे है उनसे आग्रह है की घर से बाहर नहीं निकले और सरकार के द्वारा दिए हुए आदेश का पालन करते रहे है यदि आप इस मोसिबत से बच ना चाहते है। लॉक डाउन करने के बाद आम जानते की समस्या बहुत जियादा बढ़ चूका है उधारन के लिए खाने पिने की जरूरत बहुत अधिक हो चूका है। इस लिए उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा ऍम जनता के हितो को देखते हुए Money at Home Scheme (मनी अत होम स्कीम) उत्तर प्रदेश मजदूरी भत्ता योजना का लंच किया है जिसमे प्रदेश की जनता को घर बैठे राशन की वयस्था और उत्तर प्रदेश मजदूरी भत्ता के तहत 1000 रुपे की अर्थीक मदद किया जा रहा है जिसका का एलान प्रदेश के मुखिया श्री योगी जी क द्वारा किया जा चूका है। जैसा की आप सभी को न्यूज़ पेपर मीडिया रिपोर्ट के माध्यम से पता चल चूका होगा। उप मजदूरी भत्ता योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के द्वारा चलाई जा रही है।

UP Majduri Bhatta Scheme

उत्तर प्रदेश मजदुर योजना भत्ता किसे मिलेगा।

मित्रो इस योजना के तहत 35 लाख से अधिक गरीब मजदुर परिवार को सरकार के द्वारा चिन्हित किया जा चूका है। उन सभी चिन्हित मजदूरो के खाते में 1000 -1000 रुपे की आर्थिक मदद के रूप भेजने का काम बहुत तेजी से चल रहा है कुछ खबरों के माने तो उत्तर प्रदेश मजदूरी भत्ता योजना मजदूरी भत्ता योजना की राशी भेज भी दिया है। इसलिए आपस सभी अपने बैक खाते को चेक भी कर सकते है कहीं आप बैंक अकाउंट में भी आया है किया। उत्त प्रदेश में एक अध्याय देश के अनुसार पुरे राज्य में सभी कंपनी को बंद करने का आदेश देते हुए घर से बैठ कर काम करने की अनुमति दे दिया है फिर उन सभी को छुट्टी दिया गया है ताकि घर में महफूज रहे कोरोना वायरस से बचने का एक मात्र उपाय है लॉकडाउन का पालन करना तभी आप इससे बच सकते है। इसके फैलने का मुख्य कारण है एक दुसरे से सम्पर्क में आना इसलिए आप इससे अधिक से अधिक बचे। चूँकि उत्तर प्रदेश मजदूरी भत्ता योजना) उत्तर प्रदेश में एक महीने का राशन और 1000 रुपे मजदूरी भत्ता के रूप में देने का फैसला किया है।

उप मजदूर भत्ता – एक हजार रुपये भत्ते वाली मनी एट होम योजना

UP Majduri Bhatta Scheme

किन किन मजदूरो को मिलेगा इस का लाभ

ऊ० प्र सरकार द्वारा चलाई जाने वाली मनी अत होम योजना फिर आप इसे कह सकते है की मजदूर भत्ता योजना के लिए बड़ी संख्यां में गरीब वर्गो के परिवार को राज्य सरकार द्वारा चिंतित क्र इया गया है ऐसा अनुमान है की 80 लाख से अधि क मजदूरो को इसका लाभ डायरेक्ट मिलने वाला है। आप को बताते हुए चलूँ की इस UP Majduri Bhatta Scheme योजना में उन मजदूरो को सामिल किया गया है जो खास तोर पर डेली दिहाड़ी पर काम करके अपना गुजारा करता है। एक बात याद रखना होगा की उत्तर प्रदेश मजदूरी भत्ता योजना का लाभ उनको ही मिलेगा जो या तो पहले से श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम सभाओं में पंजीकृत हैं। या फिर उनको श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम सभाओं में पंजीकृत करना होगा उसके बाद ही मजदूरी भत्ता योजना उत्तर प्रदेश का लाभ मिल सकता है। श्रम विभाग के 20 लाख मजदूरों को मदद दी जाएगी, वंही नगर विकास के 16 लाख सफाई कर्मचारी को मदद मिलेगी। साथ ही इसमे 58000 ग्राम सभाओं के 20-20 मजदूरो को भी 1000 रूपए उनके खाते में दिए जाएंगे।

योगी मजदूर भत्ता योजना कोरोना के चलते हुई यह योजना की शुरुआत।

आप को बताते हुए चलूँ की इस बीमारी के आने से पूरी दुनिया की अर्थवयवस्था पूरी तरह से तुरह से टूट चूका है और बहुत बड़ी आर्थिक मंदी आने वाला है। पढ़े लिखे लोगों के पास रोजगार की सुविधा है मगर जो या तो पढ़े लिखे नहीं है या फिर मजदूरी से अपना गुजरा कर रहे थे उनके लिए बहुत बड़ी समस्या है। चूँकि अगर वो डेली नहीं कमाएँगे तो कहाँ से खाएँगे। कियोंकि उनके सामने सबसे पहले रोजी रोटी का सवाल है उन्हें अपने बच्चे का धियान रखना होता है। और ऐसी आर्थिक मंदी में क्या होगा सबसे बड़ी चिंता है। इसलिए सरकार के द्वारा कुछ रहत की सामग्री और आर्थिक रूप से 1000 रुपे की मदद होने से काफी दैनिक स्थित को बेहतर किया जा सकता है। इसलिए योगी सरकार द्वारा मनी एट होम योजना को लागू किया गया है। ताकि गरीब परिवारों को भारपुर मदद तो नहीं कम से कम कुछ तो मदद किया जाए ताकि भूखा ना रहे है इसलिए आप सभी उत्तर प्रदेश कोरोना वायरस मजदुर भत्ता का लाभ लेने के लिए नगर विकास विभाग में पंजीकरण करें,

योजना की पात्रता एंव दस्तावेज।

  • आप उत्तर प्रदेश राज्य के निवासी है तो आप इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते है।
  • आप के पास श्रम विभाग, नगर विकास या ग्राम सभाओं में से किसी एक पास पंजीकृत होना चाहिए,
  • पंजीकरण करने के बाद आप को जीकृत सर्टिफिकेट या दस्तावेज दिया गया होगा। यदि आप के आपस नहीं है तो आप को लाभ नहीं मिलेगा।
  • मनी एट होम योजना का लाभ इसका लाभ केवल मजदूर ही उठा सकते हैं। कोई और नहीं ले सकता है।

योजना की पात्रता एंव दस्तावेज

उत्तर प्रदेश मजदूरी भत्ता कैसे मिएगा पैसा।
आप यदि आप प्रदेश सरकार के द्वारा चलाई मजदुर भत्ता योजना का लाभ लेने के लिए पंजीकरण श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम विभाग होना अनिवार्य है उसके बाद ही आप 1000 -1000 रुपये प्राप्त करने के लिए तैयार हो सकते है आगर आप सभी जरुरी दस्तावेज पूरा करते है तो आप को मिलने वाले पैसे के लिए कहीं भी जाने की आवश्यकता नहीं है घर बैठे रहे आप के अकाउंट में डायरेक्ट भेज दिया जाएगा।

इस योजना से समबधित कुछ प्रश्न उत्तर इस प्रकार से है।

कोरोना वायरस के चलते सरकार के द्वारा चलाने वी स्कीम का नाम किया है।
मनी एट होम या फिर उत्तर प्रदेश मजदुर भत्ता योजना

उत्तर प्रदेश में किसे मिलेगा पैसा
श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम सभाओं में पंजीकृ मजदुर को मील पाएगा जिहोने आवेदन कर रखा होगा।

1000 हजार की राशी कहाँ से मिलेगा।
आप को बता दूँ की इस मानी एट होम के तहत दी जाने वाली राशी के लिए कही भी जाने की जरूत नहीं जो भी मजदुर श्रम विभाग के यहाँ पर पंजीकृत है उनके बैंक में भेज दिया जाएगा।

60 साल से अधिक वर्ग के आयु को जो पहले से स्कीम जैसे की पेशन मिल रहा था वो मिलता रहेगा साथ ही इन्हें दो माह की अग्रिम पेंशन अप्रैल में ही देने के आदेश दिए गए हैं इस संकट के समय अंत्योदय, मनरेगा मजदुर और श्रम विभाग में पंजीकृत दिहाड़ी मजदूरों समेत एक करोड़ 65 लाख 31 हजार लोगों की जरूरत को पूरा करने के लिए 20 किलो गेहूं व 15 किलो चावल सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकानों से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते है। ये घोषणा सरकार के द्वारा किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *